अटल पेंशन योजना : इस सरकारी स्कीम में करें मामूली निवेश और पाएं प्रतिमाह 5 हजार तक पेंशन

भारत सरकार द्वारा 2015-16 के बजट में अटल पेंशन योजना लागू करने की घोषणा की गई थी। यह योजना भारत सरकार के वित्त मंत्रालय द्वारा संचालित है तथा एनपीस स्ट्रक्चर के माध्यम से पीएफआरडीए (पेंशन निधि विनियामक और विकास प्राधिकरण) द्वारा प्रशासित है।

अटल पेंशन योजना का उद्देश्य –

भारत सरकार द्वारा असंगठित क्षेत्र के कामगारों का विशेष ध्यान रखते हुए भारत के सभी नागरिकों के लिए अटल पेंशन योजना की शुरुआत की गई है। यह योजना मुख्य रूप से असंगठित कामगार जैसे हाउस हेल्पर, गार्डनर, डिलीवरी बॉय आदि पर केंद्रित है। यह योजना उन भारतीयों के लिए लागू की गई है जिनके लिए कोई औपचारिक पेंशन प्रावधान नहीं है। इस योजना के माध्यम से वे दीर्घ जीवन संबंधी जोखिम का समाधान और रिटायरमेंट के लिए स्वैच्छिक बचत कर सकते हैं।

अटल पेंशन योजना का लाभ –

अगर कोई व्यक्ति 18 वर्ष से 40 वर्ष की आयु के मध्य इस योजना में शामिल होता है तथा अंशदान करता है तो उसे 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर 1000 से 5000 मासिक पेंशन मिलती है। अंशदान की रकम योजना में शामिल होते वक्त आपकी आयु पर निर्भर करती है अगर आप कम आयु में योजना में शामिल होते हैं तो अंशदान की रकम कम होगी लेकिन थोड़ी देर बाद शामिल होते हैं तो यह रकम बढ़ जाएगी।

अटल पेंशन योजना की विशेषताएं –

  • अटल पेंशन योजना के तहत इसमें शामिल सभी सभी अभिदाताओं को 60 वर्ष की उम्र के बाद गारंटीकृत मासिक पेंशन प्रदान की जाएगी।
  • पेंशन की राशि अभिदाताओं के अंशदान के आधार पर 1000रु. से 5000रु. प्रतिमाह दी जाएगी।
  • योजना में शामिल होने के पहले 5 साल तक सरकार अभिदाता के अंशदान का 50% या 1000 रुपये जो भी कम हो का सह-अंशदान करेगी।

अटल पेंशन योजना के लिए पात्रता –

  • योजना का लाभ लेने के लिए आपकी उम्र 18 वर्ष से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • योजना के आवेदन करने वाले व्यक्ति को कम से कम 20 वर्ष तक अंशदान करना होगा।
  • आधार कार्ड इस योजना में प्राथमिक केवाईसी दस्तावेज होगा।
  • वे सभी व्यक्ति जिनके बैंक में अकाउंट है वे अटल पेंशन योजना में शामिल हो सकते है।
  • वे व्यक्ति जो स्वावलंबन योजना के तहत रजिस्टर्ड हैं उन्हे स्वतः ही योजना में शामिल कर दिया जाएगा।

निम्नलिखित मानदंडों पर खरे नहीं उतरने वाले व्यक्ति योजना में शंमिल नहीं हो सकते हैं –

  • यदि कोई व्यक्ति आयकर देता है तो वह अटल पेंशन योजना में शामिल नहीं हो सकता है।
  • यदि वह कर्मचारी भविष्य निधि योजना या किसी सामाजिक सुरक्षा योजना का लाभार्थी हो।
  • प्रवासी भारतीय ( एनआरआई ) इस योजना में शामिल नहीं हो सकते हैं। यदि कोई व्यक्ति इस योजना में शामिल होने के बाद एनआरआई हो जाता है तो उसका खाता बंद कर दिया जाएगा तथा उसके अंशदान और योजना में शामिल अवधि तक अर्जित लाभ का भुगतान खाताधारक को कर दिया जाएगा।

आवेदन कैसे करें?

अटल पेंशन योजना में आवेदन करने के लिए आपको अककोन्ट खोलaने का फॉर्म भरना होगा। यह फॉर्म इस योजना से जुड़ी किसी नजदीकी बैंक शाखा पर आसानी से मिल जाएगा। या आप इस फॉर्म को पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण की ऑफिसियल वेबसाईट से डाउनलोड कर सकते हैं।

आप यहाँ पर क्लिक करके भी फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं।

आवेदन फॉर्म भरने का सही तरीका –

आवेदन फॉर्म लेने के बाद उसमें मांगी गई जानकारियों को ढंग से एवं बिल्कुल सही भरना होगा। आवेदन फॉर्म में आपको निम्न जानकारियाँ भरनी होगी –

  • बैंक का नाम, बैंक की शाखा एवं बैंक अकाउंट नंबर संबंधित जानकारी।
  • आवेदक को अपनी व्यक्तिगत जानकारी जैसे नाम, पता, उम्र, मोबाईल नंबर , ई-मेल आईडी, वैवाहिक स्थिति, पति/पत्नी का नाम, नॉमिनी आदि देनी होगी।
  • आवेदक को पेंशन राशि का चयन करना होगा आवेदक 1000 रुपये से लेकर 5000 रुपये के मध्य पेंशन राशि का चयन कर सकता है।
  • आवेदक द्वारा पेंशन राशि के चयन के आधार पर बैंक के द्वारा अंशदान की राशि का निर्धारण किया जाएगा।

अंशदान राशि में चूक होने पर निर्धारित दंड –

अटल पेंशन योजना में खाताधारक यदि समय पर अंशदान की राशि जमा नहीं करवाता है या उसे राशि जमा करवाने में देर हो जाती है तो उससे अतिरिक्त शुल्क दंड के रूप में वसूला जाएगा जो की निम्न प्रकार है –

100 रुपये प्रतिमाह अंशदान हेतू 1 रुपये प्रतिमाह
101 से 500 रुपये प्रतिमाह 2 रुपये प्रतिमाह
501 रुपये से 1000 रुपये प्रतिमाह5 रुपये प्रतिमाह
1000 रुपये से ज्यादा 10 रुपये प्रतिमाह

यदि आप 6 महीने तक अंशदान का भुगतान नहीं करते हैं तो आपका अकाउंट ब्लॉक हो जाएगा। तथा 12 महीने तक भुगतान न करने की स्थिति में अकाउंट इनएक्टिव हो जाएगा और 24 महीने भुगतान न करने की स्थिति में अकाउंट बंद हो जाएगा।

HOME

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top